घर / ई-शासनम् / डिजिटल इंडिया / इक बेह्तर परिद्रश्य
सांझा करो
Views
  • राज्य Open for Edit

इक बेह्तर परिद्रश्य

इस भाग च डिजिटल इंडिया कार्यक्रम दी पैह्ली जानकारी गी प्रस्तुत कीता गेआ ऐ ।

भूमिका

‘डिजिटल इंडिया’ भारत सरकार दी इक नमीं पैह्ल ऐ जेह्दा उदेश्य भारत गी डिजिटल लेहाज कन्नै सशक्त समाज ते ज्ञान अर्थव्यवस्था च तब्दील करना ऐ । एह्दे तैह्त जिस लक्ष्य गी पाने उप्पर ध्यान दित्ता जा करदा ऐ , ओह् ऐ भारतीय प्रतिभा (आई टी ) + सूचना प्रौद्योगिका (आई टी ) = कल दा भारत (आई टी )

‘डिजिटल इंडिया’ इक बड्डा कार्यक्रम ऐ जेह्ड़ा केईं सरकारी मंत्रालायें ते विभागें गी कवर करदा ऐ । एह् केईं बक्ख-बक्ख चाल्लीं दे आइडिया ते विचारें गी एकल ते बड्डे लक्ष्य दा हिस्सा बनांदा ऐ तां जे हर बचार इक बड्डा हिस्सा नजर आवै , डिजिटल इंडिया कार्यक्रम दा संचालन डी आई टी वाई आसेआ कीता जाना ऐ । उत्थें गै इस उप्पर अमल समुच्ची सरकार आसेआ कीता जाना ऐ ।

‘डिजिटल इंडिया’ दा विजन त्रै मुक्ख खेत्तरें उप्पर केंद्रत ऐ । एह् न – हर नागरिक आस्तै उपयोगिता दे तौर उप्पर डिजिटल ढांचा , मांग उप्पर संचालन ते सेवाएं ते नागरिकें दा डिजिटल सशक्तिकरन ।

कार्यक्रम दी उपयोगिता

हर नागरिक आस्तै उपयोगिता दे तौर उप्पर डिजिटल ढांचे च एह् उपलब्ध न – नागरिकें गी सेवां मुहिया कराने आस्तै इक प्रमुक्ख उपयोग दे रूप च हाई –स्पीड इंटरनेट , डिजिटल पंछान अंकित करने दा ऐसा उद्गमस्थल जेह्ड़ा नोखा , आनलाइन ते हर नागरिक आस्तै प्रमानित करने जोग ऐ , मोबाइल फोन ते बैंक खाते दी ऐसी सुविधा जेह्दे कन्नै डिजिटल ते वित्तीय मामलें च नागरिकें डी भागीदारी होई सकै , सांझा सेवा केंद्र तकर आसान पौंह्च , पब्लिक क्लाउड उप्पर सांझा करने जोग निजी जगह् ते सुरक्षित साइबर –स्पेस ।

सारे विभागें ते न्यायालयों च मांग उप्पर समेकित सेवाएं समेत शासन ते सेवां , आनलाइन ते मोबाइल प्लेटफार्म उप्पर सेही समें उप्पर सेवाएं दी उपलब्धता , सारे नागरिकें गी क्लाउड एप उप्पर उपलब्ध रौंह्ने दा अधिकार ऐ । डिजिटल तब्दील सेवाएं जरिये कम्मधंधे च सैह्जता करना,इलेक्ट्रानिक ते नकदी रैह्त वित्तीय लेन-देन करने ,फैसले मदद सिस्टम ते विकास आस्तै जीआईएस दा लाऽ लैना ।

नागरिकें गी डिजिटल मजबूत बनाने लेई सार्वभौमिक डिजिटल साक्षारता । सर्वत्र सुगम डिजिटल संसाधनें , डिजिटल संसाधनें / सेवाएं दी भारतीय भाशाएं च उपलब्धता , सुशासन आस्तै डिजिटल प्लेटफ़ार्में ते पोर्टबिलिटी दे सारे अधिकारें गी क्लाउड दे जरिये सैह्जोगपूर्न बनाना । नागरिकें गी शासक दस्तावेजें जां प्रमान-पत्रें बगैरा गी हुंदी मजूदगी दे बगैर बी भरेआ जाई सकग ।

डिजिटल भारत कार्यक्रम दियां जोजनां

डिजिटल इंडिया च नौ थम्म शामल न – ब्राडबेंड हाई - वे ,मोबाइल कनेक्टिविटी आस्तै यूनिवर्सल एक्ससेस , जनता इंटरनेट एक्ससेस कार्यक्रम ,ई गवर्नेंस – तकनीकी दे जरिये सरकार च सुधार , ई-क्रांती –सेवाएं गी इलेक्ट्रानिक रूप कन्नै प्रदान करना , सारें आस्तै सूचनां , इलेक्ट्रानिक उत्पादन , नौकरियें आस्तै आई टी टी ,तौले पैदावार कार्यक्रम । एह् सारे इक रलेमिले कार्यक्रम न ते सारे मंत्रालयें ते सरकारी विभागें कन्नै जुड़े दे न ।

डिजिटल भारत कार्यक्रम दे तैह्त केंई मजूदा जोजनाएं कन्नै मिलियै कम्म करना ऐ , जेह्दे दायरें गी परतियै निर्मान फ्ही केंद्रत ते पुनर्केंद्रित कीता गेआ ऐ । क्लाउड , मोबाइल बगैरा टेक्नोलाजी गी बढ़ावा देना , परिवर्तन कारी प्रक्रिया पुर्नरचना ते प्रक्रिया च सुधार उप्पर ध्यान देना अंतप्रचालनीय उपक्रम ते एकीक्रत सेवा प्रदान करने दे मानके उप्पर आधारत ऐ ते इक समकालिक ढंग कन्नै लागू कीता जाह्ग । डिजिटल इंडिया दे माध्यम कन्नै “मेड ईन इंडिया” इलेक्ट्रानिक डिवाइसें , उत्पादकें ते सेवाएं दे पोर्टफोलियो गी बी बढ़ावा देना ते देश च नौजोआने आस्तै रोजगार दी संभावना गी बढ़ावा देना ऐ ।

स्त्रोत:इंटरनेट ,दैनिक समाचार पत्र

3.39130434783
अपनी राऽ देओ

उप्पर दित्ते गेदे बिशे च जेकर तुंदी कोई प्रतिक्रिया/ राऽ ऐ तां किरपा करियै इत्थे पोस्ट करी लैओ

Enter the word
Back to top