घर / ई-शासनम् / डिजिटल फ़ाइनेंशियल सर्विसस / एकीकृत भुगतान इंटरफेस / एकीकृत भुगतान इंटरफेस –बरतने दियां मसालां ते नमूने
सांझा करो
Views
  • राज्य Open for Edit

एकीकृत भुगतान इंटरफेस –बरतने दियां मसालां ते नमूने

एह् शीर्शक एकीकृत भुगतान इंटरफेस बरतने दियें मसालें ते नमूनें बारै जानकारी दिंदा ऐ।

नेशनल पेंमेंट कार्पोरेशन आफ इंडिया (एनपीसीआई) देशै च सब्भै खुदरा भुगतान प्रणाली लेई इक कठरेमीं संस्था ने बेह्​तर आनलाइन भुगतान दे समाधान लेई इक एकीकृत भुगतान इंटरफेस(यूपीआई) दी शुरूआत कीती ऐ जेह्​ड़ी बधदे स्मार्टफोन दी बरतून ते मोबाइल डाटा दा लाह् लैंदे होई इस बक्खी लोकें दे झुकाऽ गी बधाग। यूपीआई बरतूनियें गी फौरी पुश ते पुल लैनदेन करने दी समर्था दिंदी ऐ जेह्​ड़ी लोकें आसेआ कीती जा करदी भुगतान प्रक्रिया बदली ओड़ग।

यूपीआई बारै

यूपीआई इक खास भुगतान समधान ऐ जिस च हासलकर्ता इक स्मार्टफोन कन्नै भुगतान प्रक्रिया शुरू करी सकदा ऐ। एह इक सिंगल क्लिक 2 कारकी प्रमाणीकरण पर कम्म करदी ऐ ते भुगतानकर्ता गी रकम भेजने ते हासल करने लेई इक “आभासी पता” स्हूलत उपलब्ध करोआंदा ऐ। इसदे कन्नै गै एह् साथियें च बिल सांझा करने जनेह् केईं कम्में च नियमत पुश ते पुल लैनदेन विकल्प बी उपलब्ध करोआंदा ऐ। कोई बी आनलाइन खरीदारी करने दे बाद बिल हासल होने पर यूपीआई ऐप राहें नकद दे बदले भुगतान करी सकदा ऐ ते कन्नै गै होर केईं खर्चे जि’यां भोगता बिलें दा भुगतान, काउंटर पर जाइयै भुगतान करना, बारकोड(स्कैन ते भुगतान) अधारत भुगतान, दान, स्कूल दी फीस ते होर इस्सै चाल्ली दे नमें तरीके बरती सकदा ऐ।

एह् इंटरफेस NPCI's Immediate Payment Service (IMPS)दा उन्नत संस्करण ऐ जेह्​ड़ा 24*7*365 फंड ट्रांसफर दी सुविधा उपलब्ध करोआंदा ऐ। यूपीआई ई-मेल कन्नै बी आभासी पते आंह्​गर बैंक ग्राहक गी पंछानने दी सुविधा उपलब्ध करोआंदा ऐ। एह् ग्राहक गी बक्ख-बक्ख बैंक च होने आह्​ले खातें लेई बक्ख-बक्ख असल पते रक्खने दी इजाजत दिंदा ऐ। ग्राहक दे डाटा दी निजता गी सुरक्षत रक्खने लेई ग्राहक दी अपनी बैंक दे सिवाए होर कुतै बी अकाउंट नंबर मापक नेईं ऐ। इसलेई एह् ग्राहक गी खु’ल्ले तौर पर अपने माली पते सांझे करने दी अजादी दिंदा ऐ। ग्राहक आभासी पते लेई नांऽ दे तौर पर निक्के नांऽ दे अलावा मोबाइल नंबर जि’यां 1234567890@sbi बी बरतने बारै सोची सकदा ऐ।

बरतने दियां मसालां:

एकीकृत भुगतान इंटरफेस भुगतानकर्ता जां हासलकर्ता गी भुगतान शुरू करने दी इजाजत दिंदा ऐ। बेसिक हासलकर्ता शुरू कीते गेदे फ्लो च भुगतान आवेदन एनपीएसआई. स्विच राहें शुरू कीते जाने आह्​ले ऐपलीकेशन आसेआ रूटिड कीता जंदा ऐ भुगतानकर्ता दी मंजूरी लेई। पर, किश मौकें पर जित्थै भुगतानकर्ता कन्नै फौरी तौर पर रावता करना मुमकन होए एह् तरजीह् दित्ती जंदी ऐ जे हासलकर्ता इक भुगतान आवेदन भुगतानकर्ता गी भेजै जेह्​ड़ा फ्ही अपने क्रेडेंशियल्स कन्नै भुगतान आवेदन गी शुरू करै। एह् इक सैह्​ज भुगतान प्रक्रिया दा अनुभव दिंदी ऐ। इसदियां किश मसालां न, इन-ऐप भुगतान जित्थै पीएसपी नेटवर्क राहें आवेदन हासल करने दे बजाय मर्चैट ऐप उस्सै डिवाइस पर पीएसपी ऐप गी आवेदन भेजी सकदा ऐ। दूई मसाल अनंतरता भुगतान होई सकदी ऐ, जित्थै भुगतानकर्ता ते हासलकर्ता बक्ख-बक्ख डिवाइसें दी बरतून करदे न पर जानकारी लेई इ’न्ने नैड़ै होंदे न जे ओह् मकामी पद्धर पर संचारत कीती जा।

मसाल 1. बिना कुसै परेशानी बरतूनी दे इक्कै मोबाइल थमां इन – ऐप भुगतान

अशोक इक विद्यार्थी ऐ ते ओह इक वीडियो ऐपलीकेशन (MyStar) दी बरतून करदा ऐ जेह्​ड़ा उसी आनलाइन आन-डिमांड मूवी खरीदने दी इजाजत दिंदा ऐ।

  • 25
  • My Star ऐपलीकेशन इस खास निर्देश पर यूपीआई भुगतान लिंक त्यार करदा ऐ ते URL च दित्ते गदे सभनें जरूरी मापदंडे कन्नै एंड्रायड इंटेंट लांच करदा ऐ।
  • कीजे DiBank PSP ऐप गी यूपीआई लिंक/इंटेंट बक्खी ध्यान देने लेई पंजीकृत कीता गेदा ऐ, एह् ऐप गी चालू करदा ऐ ते अशोक गी लिंक/इंटेंट थमां सभनें पूर्व-दित्ते गेदे मुल्लें कन्नै सिद्धे भुगतान स्क्रीन पर लेई जंदा ऐ।
  • अशोक स्क्रीन पर जानकारी दी तस्दीक करदा ऐ ते भुगतान पूरा करने लेई अदा करो पर क्लिक करदा ऐ।

मसाल 2: घर थमां DTH लेई भुगतान

  • नदीम अपने घर च DTH सेवा शुरू करदा ऐ ते आन-डिमांड शुल्क लेई भुगतान करना चांह्​दा ऐ।
  • नदीम चैनल दा चुनांऽ करदा ऐ ते “हून खरीदो” पर क्लिक करदा ऐ।
  • यूपीआई भुगतान लेई QR कोड कन्नै DTH पूरा ब्यौरा दर्शांदा ऐ ।
  • नदीम अपने मोबाइल पर अपना यूपीआई ऐपलीकेशन खोलदा ऐ तो टीवी स्क्रीन पर आवै करदे QR कोड स्कैन करदा ऐ।
  • UPI ऐपलीकेशन उसी QR कोड जिस च मानक यूपीआई लिंक होंदा ऐ थमां सभनें पूर्व-मिथे दे मुल्लें कन्नै सिद्धे भुगतान स्क्रीन पर लेई जंदा ऐ।
  • ओह् स्क्रीन पर जानकारी दी तस्दीक करदा ऐ ते भुगतान पूरा करने लेई “अदा करो” पर क्लिक करदा ऐ।
  • ओह् अपने मोबाइल पर पुश्टि हासल करदा ऐ ते टीवी चैनल दिक्खने लेई अपने-आप चालू होई जंदा ऐ।

अमलवारी दे नमूने

हाइपरलिंक

बरतूनी अपने मोबाइल पर इक ई-कामर्स वेबसाइट (रोहित स्टोर) पर जंदा ऐ ते इक आर्डर दिंदा ऐ। वेबसाइट इक लिंक पैदा करदी ऐ जिस पर बरतूनी गी क्लिक करना होंदा ऐ भुगतान पूरा करने लेई। खासियतें दे अधार पर लिंक च भुगतानकर्ता दा ब्यौरा, भुगतान संदर्भ( आर्डर आई-डी) ते कि’न्ना भुगतान कीता जाना ऐ शामल होंदा ऐ।

qrcode

मसाल:

upi://paypa=zeeshan@npci&pn=Zeeshan%Khan&mc=0000&tid=cxnkjcnkjdfdvjndkjfvn&tr=4894398 cndhcd23&tn=Pay%to%rohit%stores&am=1010&cu=INR&ref Url=https://rohit.com/orderid=9298yw 89e8973e87389e78923ue892

जदूं बरतूनी अपने मोबाइल ब्राउजर पर उस लिंक पर क्लिक करदा ऐ एह् मकामी पीएसपी ऐपलीकेशन पैदा करदा ऐ जित्थै बरतूनी ब्यौरे दी तस्दीक करदा ऐ ते भुगतान प्रक्रिया गी पूरा करदा ऐ।

डिजाइन च सादगी, बरतूनी दी हाइपरलिंक कन्नै पूरी जानकारी ते सांझा करने च असानी करियै एह् लिंक पैदा कीते जाई सकदे न ते बहु संचार चैनलें जि’यां ई-मेल. चाट ते सोशल नेटवर्क पर च सांझे कीते जाई सकदे न।

QR कोड

QR कोड पिच्छै चिट्टे बैकग्रांउड च दित्ते गेदे काले माड्यूल इक वर्ग दी तरतीब च होंदे न। इनकोडिंग कीती गेदी जानकारी चार मानक तरीकें दे डेटा (अंकी, अक्खरी, बाइट/बाइनरी, कांजी जां मदादी ऐक्सटेंशन कन्नै कुसै बी चाल्ली दे डेटा च बनाई जाई सकदी ऐ।

यूपीआई कन्नै QR कोड दी बरतून अनंतरता भुगतान लेई कीती जाई सकदी ऐ। डेवलपर्स जेह्​ड़े बपारी ऐपलीकेशन बना करदे न उ’नेंगी ध्यान रक्खियै इक ऐसी URL बनानी चाहिदी जेह्​ड़ी पिछले खंड दी खासियतें दे अनुरूप होए ते फ्ही उस URL दा QR कोड त्यार करन।

पीएसपी लेई नोट

QR कोडें दी सादगी, खु’ल्लेपन ते व्यापक तौर पर मंजूर होने ते प्रिंट होने, बक्ख-बक्ख स्क्रीनें, PoS डिवाइसें पर डिस्पले होने दी समर्था गी ध्यान च रक्खदे होई पीइसपी ऐपलीकेशनें दी हौसला-अफजाई कीती जंदी ऐ जे ओह् अपने यूपीआई ऐपलीकेशन QR कोड स्कैन विकल्प शामल करन तां जे ग्राहक इक्कै ऐप राहें स्कैन ते भुगतान करी सकन।

होर
यूपीआई लिंकिंग प्रोटोकाल ऐग्नास्टिक ऐ ते इस करियै एह् उन्नत प्रक्रिया बपारी/अनंतरता डिवाइस मझाटै यूपीआई इंटेंट ग्राहक दे फोन पर भेजने दी मंजूरी दिंदा ऐ। मसाल दे तौर पर इक बपारी दा PoS ऐपलीकेशन यूपीआई लिंक (पिछले खंड च दित्ती गेदी खासियतें दे अधार पर) पैदा करदा ऐ ते फ्ही साउंड दी बरतून करदे होई ग्राहक दे डिवाइस पर संचारत करदा ऐ। ग्राहक दा पीएसपी ऐप जां इक भोगता ऐप उस सांउड गी सुनदा ऐ, परतियै इस लिंक च इसी बदलदा ऐ ते फ्ही भुगतान करने लेई ग्राहक दे मोबाइल पर यूपीआई ऐपलीकेशन लांच करदा ऐ। ध्यान देओ जे आम बरतून लेई थर्ड-पार्टी भोगता ऐपलीकेशन बी होई सकदे न जेह्​ड़े बरतूनी सांउड दी बरतून करदे होई एह् QR कोड स्कैन करने, लिंक लांच करने होर केईं उन्नत ट्रांसफऱ प्रोटोकाल करने दी इजाजत दिंदे न। इस चाल्ली दे ऐप प्राक्सी भोगता दे रूप च कम्म करी सकदे न जेह्​ड़े एह् लिंक भेजी/हासल कर सकदे न ते फ्ही मनासब ऐपें गी लांच करदे न जेह्​ड़े इ’नें इंटेंटें गी सुनै दे होन।

स्त्रोत: नेशनल पेमेंट कार्पोरेशन आफ इंडिया

3.0
अपनी राऽ देओ

उप्पर दित्ते गेदे बिशे च जेकर तुंदी कोई प्रतिक्रिया/ राऽ ऐ तां किरपा करियै इत्थे पोस्ट करी लैओ

Enter the word
Back to top