घर / ई-शासनम् / सूचना दा अधिकार / आर.टी.आई.अधिनियम तहत अपनी मर्जी कन्नै सूचना देना (पैह्​ल करना)
सांझा करो
Views
  • राज्य Open for Edit

आर.टी.आई.अधिनियम तहत अपनी मर्जी कन्नै सूचना देना (पैह्​ल करना)

इस खंड च आर.टी.आई.अधिनियम दे तहत मर्जी कन्नै सूचना देने दी म्हत्ता कन्नै सरबंधत जानकारी गी पेश कीता गेआ ऐ।

अपनी मर्जी कन्नै सूचना देना (पैह्​ल करना) केह् ऐ?

अपनी मर्जी कन्नै सूचना देना (पैह्​ल करना) दा अर्थ कुसै माह्​नू ते संस्था कन्नै सरबंधत सूचना बिना कुसै मंग दे उपलब्ध करोआना ऐ।

सूचना दा अधिकार अधिनियम ते सूचना देना

सभनें सार्वजनिक प्राधिकरणें (जिंदे च ग्रांऽ पंचैतां बी शामल न) थमां सूचना दा अधिकार (आरटीआई) अधिनियम, 2005 दी धारा 41(ख) दे अनुसार अपनी मर्जी कन्नै सूचना देने (पैह्​ल करने) दी अकांख्या कीती गेई ऐ। सूचना दा अधिकार अधिनियम नागरिकें गी ग्रांऽ पंचैत दे जन सूचना अधिकारी (पीआईओ) थमां जानकारी मंगने दा अधिकार दिंदी ऐ, जिसी 30 दिनें अंदर आवेदक गी जानकारी देनी होंदी ऐ। सूचना बक्ख-बक्ख दस्तावेजें दी प्रतियें, दस्तावेजें, कारजें ते रिकार्डें दे निरीक्षण,ते कारजें च बरती जाने आह्​ली समग्गरी दे प्रमाणत नमूने दे रूप च होई सकदी ऐ। ग्रांऽ पंचैत सचिव ग्रांऽ पंचैत दा जन सूचना अधिकारी (पीआईओ) होंदा ऐ। सूचना देने च जानी बुज्झियै ते अनुचित ढंगै कन्नै मनाही करने पर आरटीआई दे अंतर्गत दंड लाया जाई सकदा ऐ। पीआईओ पर एह्​कड़े कारणें कन्नै 250 रु. हर दिन दे स्हाबैं बद्धोबद्ध 25,000 रु. तगर दा जर्माना लाया जाई सकदा ऐ:

  • बिना कुसै तर्क दे आवेदन स्वीकार करने थमां मना करने पर।
  • बिना कुसै तर्क दे निर्धारत समें च सूचना नेईं देने पर।
  • बिना कुसै तर्क दे ते गलत तरीके कन्नै सूचना दस्सने थमां मना करने पर।
  • जानी बुज्झियै अपूर्ण, गलत, भलभेरमीं सूचना देने पर।
  • जेह्​ड़ी सूचना मंगी गेई ऐ उस कन्नै सरबंधत रिकार्ड गी नश्ट करने पर।
  • सूचना देने दे कारज गी कुसै बी चाल्ली बाधित करने पर।
  • अपनी मर्जी कन्नै सूचना देने (पैह्​ल करने) दे लाह्

ग्रांऽ पंचैत ते अपनी मर्जी कन्नै सूचना देना

ग्रांऽ पंचैत इक सार्वजनिक संस्था ऐ ते इसी पारदर्शी, जवाबदेह् ते उत्तरदायी ढंगै कन्नै कारज करना होंदा ऐ। इसदा अर्थ एह् ऐ जे ग्रांई पंचैतें दी कार्यकरण सरबंधी म्हत्त्वपूर्ण सूचना ग्रांईयें गी दित्ती जानी चाहिदी। ग्रांऽ पंचैत अध्यक्ष, सचिव ते होर पदाधिकारियें गी ग्रांऽ बसनीकें दी मंगें गी पूरा करना चाहिदा ते उं’दे सोआलें दा परता देना चाहिदा। उ’नें अपनियां कार्रवाइयां, ते कार्रवाई नेईं करने दे कारणें गी ग्रांऽ बसनीकें गी निजी ढंगै कन्नै ते ग्रांऽ सभा राहें बी दस्सना चाहिदा।

मसाल लेई, जदूं ग्रांऽ पंचैत खेत्तर च कोई सड़क बनै करदी होए, तां लोग ठेकेदार, मंजूर बजट, सड़क दी लंबाई ते सड़क दे थाह्​र, कम्म पूरा होने दी समें सीमा ते फंड दे स्रोत जनेही जानकारी मंगी सकदे न। जेकर एह् जानकारी सार्वजनिक रूप कन्नै उपलब्ध नेईं होएं, तां नागरिक अपने मनमाफक अंदाजा लाई सकदे न ते निरणा करी सकदे न, जिस करियै ग्रांऽ पंचैत दी मंशा के बारे च गलत छवि बनी सकदी ऐ। इसलेई ग्रांईयें ते ग्रांऽ पंचैत दोनें लेई एह् फायदे दी गल्ल ऐ जे सबूरी जानकारी गी सार्वजनिक कीता जा। इसदे अलावा, जदूं ग्रांऽ पंचैत जानकारी गी खुल्ले तरीके कन्नै ते बार-बार दिंदी ऐ तां ग्रांई ग्रांऽ पंचैत कन्नै सैह्​योग करदे न ते मदाद दिंदे न। जेकर सबूरी जानकारी अपनी मर्जी कन्नै जाह्​र कीती जंदी ऐ ते उपलब्ध करोआई जंदी ऐ तां इस गल्लै दी संभावना घट्ट होई जंदी ऐ जे लोक सूचना दे अधिकार (आर.टी.आई.) अधिनियम दे तहत जानकारी हासल करने लेई बक्ख आवेदन करन।

केह्​ड़ियां सूचनां अपनी मर्जी कन्नै देनियां न?

सूचना दा अधिकार अधिनियम च पैह्​ल करने लेई कुल 17 (सतारां) खेत्तरें दी पंछान कीती गेई ऐ। सलाह् दित्ती जंदी ऐ जे एह् सारी जानकारी ग्रांऽ पंचैत दे सूचना पट्ट, वेबसाइट ते कंधें पर प्रदर्शत कीती जा। इसदे अलावा, एह् जानकारी इक बक्ख फाइल च बी रक्खी जाई सकदी ऐ जेह्​ड़ी ग्रांऽ बसनीकें गी सैह्​ज उपलब्ध होए।

इ’नें 17 बिंदुयें कन्नै, ग्रांऽ पंचैतां खास ढंगै कन्नै एह्​कड़ियें सूचनाएं गी दर्शाने पर ध्यान देई सकदियां न:

  • पीआईओ (मते सारें मामलें च एह् ग्रांऽ पंचैत सचिव होंदा ऐ) ते अपीली प्राधिकारी दा नांऽ ते पदनांऽ। (बिंदु 16)
  • स्थाई समिति दे सदस्यें ते एसएमसी, वीएचएसएनसी बगैरा जि’यां सार्वजनिक कार्यक्रमें दे तहत गठत सामुदायिक संस्थाएं दे सदस्यें दे नाएं गी दर्शाना। (बिंदु 8)
  • योजना लाभार्थियें दी सूची जिस च लाभार्थी दा नांऽ, पिता दा नांऽ ते पिछले पंज ब’रें च बंडी गेदी रकम गी दर्शाया गेआ होए। (बिंदु 12)
  • करन जा करदे मुक्ख कारजें दी सूची जिस च कारज दा नांऽ, कारज दी थाह्​र, निर्माण दी अवधि, खर्च कीती गेई रकम ते ठेकेदार दा नांऽ बगैरा दर्शाया गेआ होए।
  • पंचैत अपनी मर्जी कन्नै सूचना प्रदर्शत करने लेई स्कूल, आंगनवाड़ी, सेह्​त केंदर बगैरा गी बी प्रेरित करी सकदी ऐ।

मसाल लेई, सेह्​त केंदर मुफ्त जरूरी दवाएं दे स्टाक, एचएसएनसी गी दित्ती गेई रकम दे बरतून गी प्रदर्शत करी सकदा ऐ। स्कूल नामांकित छात्रें दी संख्या, एसएमसी दी बैठक दे कार्यवृत्त ते दित्ते गेदे अनुदान बरतून गी प्रदर्शत करी सकदा ऐ। इस्सै चाल्ली, होर संस्था सरबंधत जानकारियां प्रदर्शत करी सकदियां न।

ग्रांऽ सभा च अपनी मर्जी कन्नै सूचना देना (पैह्​ल करना)

ग्रांऽ सभा जानकारी देने च पैह्​ल करने दा म्हत्त्वपूर्ण मंच ऐ। ग्रांऽ सभा च दित्ती गेई जानकारी असान भाशा च ते ऐसे रूप च दित्ती जानी चाहिदी जे ग्रांऽ बसनीक उसी असानी कन्नै समझी सकन ते अर्थ लाई सकन।

ग्रांऽ पंचैत दी वेबसाइट राहें अपनी मर्जी कन्नै सूचना देना (पैह्​ल करना)

ग्रांऽ पंचैत दी वेबसाइट दी बरतून सूचना दा अधिकार अधिनियम दे तहत पैह्​ल करने लेई ते ग्रांईयें लेई होर म्हत्त्वपूर्ण सूचना देने करने लेई कीता जाई सकदा ऐ। एरिया प्रोफाइलर ते नेशनल पंचैत पोर्टल दी बरतून इस्सै प्रयोजन लेई कीती जाई सकदी ऐ। एरिया प्रोफाइलर च, ग्रांऽ पंचैत, ग्रांऽ पंचैत दा संखेपी ब्योरा, पर्यटकें दे पसंदीदा थाह्​रें, परिवार रजिस्टर (बही), निर्वाचित प्रतिनिधियें दा ब्योरा, कर्मचारियें दा ब्योरा, स्थाई समितियें दा ब्योरा बगैरा प्रकाशत कीता जाई सकदा ऐ। नेशनल पंचैत पोर्टल च ग्रांऽ पंचैत दे पेज पर बक्ख-बक्ख रिपोर्टां प्रकाशत कीतियां जाई सकदियां न।

ग्रांऽ पंचैत गी अपनी मर्जी कन्नै 17 बिंदुयें अंतर्गत सबूरी लोड़चदी जानकारी वेबसाइट पर मकामी भाशा च देनी चाहिदी। समाजक सुरक्षा योजनाएं लेई जरूरी फार्म, निविदा सूचनां, ग्रांऽ सभा नोटिस, देय टैक्सें कन्नै टैक्स निर्धारितियें (जि’नेंगी टैक्स देना ऐ) दी सूची बगैरा बी ग्रांऽ पंचैत दे बसनीकें लेई रक्खी जानी चाहिदी। अपनी वेबसाइट दे अलावा, ग्रांऽ पंचैत गी म्हात्मा गांधी राश्ट्री ग्रांई रोजगार गारंटी कनून (मनरेगा) लेई नरेगासाफ्ट जनेही योजना विशिश्ट वेबसाइटें राहें बी बक्ख-बक्ख प्रबंध सूचना प्रणालियें (एम आई एस) च सूचना अपलोड करनी चाहिदी।

सूचना दा अधिकार अधिनियम दी प्रभावी अमलावारी जकीनी करना

सूचना दा अधिकार अधिनियम दी प्रभावी अमलावारी जकीनी करने लेई, ग्रांऽ पंचैत अध्यक्ष ते सचिव गी एह्​कड़ियां कार्रवाइयां करनियां न:

  • अपनी मर्जी कन्नै सूचनां देना।
  • सूचना दा अधिकार (आर टी आई) दे तहत आवेदन दी हौसला-हफजाई करना ते विरोध प्रदर्शत नेईं करना।
  • सूचना दा अधिकार (आर टी आई) दे तहत आवेदनें दा इक रजिस्टर बनाना जिस च आवेदन दी तरीक, आवेदक दा नांऽ, आवेदन दा विशे, आवेदन दी स्थिति (निपटान कीता गेआ, सरबंधत विभाग गी फारवर्ड कीता गेआ), लंबित आवेदन ते लंबित आवेदनों पर कार्रवाई शामल ऐ।
  • ग्रांऽ पंचैत च लंबित आरटीआई आवेदनें दी स्थिति दी पक्ख दे अधार पर समीक्षा करना।
  • जांच सूची
  • क्या अस सूचना दा अधिकार अधिनियम दे मुक्ख प्रावधानें दे बारे च जानने आं?
  • क्या ग्रांऽ पंचैत ने ग्रांऽ सभा, सूचना पट्ट ते अपनी वेबसाइट पर सूचना दा अधिकार अधिनियम दे अनुसार पैह्​ल कीती ऐ?
  • क्या सूचना दा अधिकार दे तहत आवेदनें पर समें पर कार्रवाई कीती जंदी ऐ?

सार्वजनिक संस्था दे अपनी मर्जी कन्नै सूचना दित्ते जाने आह्​ले मुद्दे

ओह् मुद्दे जिंदे पर कुसै सार्वजनिक संस्था गी सूचना दा अधिकार अधिनियम (धारा 4-1 ख) दे अंतर्गत अपनी मर्जी कन्नै सूचना देना ऐ

  1. इसदे संगठन, कम्में ते कर्तब्बें दा ब्योरा।
  2. इसदे अधिकारियें ते कर्मचारियें दे अधिकार ते कर्तव्ब।
  3. निरणा प्रक्रिया च अपनाई जाने आह्​ली प्रक्रिया जिस च पर्यवेक्षण ते जवाबदेही दे चैनल शामल न।
  4. अपने कारजें गी करने लेई इसदे आसेआ तय कीते गेदे मानदंड।
  5. अपने कारजें गी करने लेई इसदे आसेआ ते इसदे कर्मचारियें आसेआ रक्खे गेदे ते बरतून च आह्​ने गेदे नियम, विनिमय, निर्देश, मैनुअल ते रिकार्ड।
  6. इसदे नियंत्रण च रक्खे गेदे दस्तावेजें दी श्रेणियें दा ब्योरा।
  7. इसदी नीतियें दे निर्माण ते उं’दी अमलावारी दे सरबंध च जनता दे सदस्यें दे सलाह् कन्नै, ते उं’दी नुमांइदगी कन्नै बनाई गेई कुसै ववस्था दा ब्योरा।
  8. इसदे हिस्से दे रूप च ते इसी सलाह् देने दे प्रयोजन कन्नै दो ते मते सदस्यें कन्नै गठत बोर्डें, परिशदें, समितियें ते होर निकायें दा ब्योरा, ते क्या उ’नें बोर्डें, परिशदें, समितियें ते होर निकायें दी बैठकें च आम लोक जाई सकदे न जां उ’नें बैठकें दा कार्यवृत्त लोकें गी उपलब्ध करोआया जंदा ऐ।
  9. इसदे अधिकारियों ते कर्मचारियों दी सूची।
  10. इसदे हर इक अधिकारी ते कर्मचारी आसेआ हासल माह्​बार मेह्​नताना, बगैरा।
  11. हर इक अजेंसी गी दित्ता गेआ बजट, जिस च सभनें योजनाएं, प्रस्तावित खर्च ते बंड सरबंधी रिपोर्ट दा ब्योरा दर्शाया गेआ होए।
  12. मदाद (सब्सिडी) कार्यक्रमें गी लागू करने दा तरीका, जिस च ऐसे कार्यक्रमें लेई दित्ती गेई रकम ते लाभार्थियें दा ब्योरा शामल होए।
  13. इसदे आसेआ प्रदत्त रियायतां, परमिट ते प्राधिकारें गी हासल करने आह्​लों दा ब्योरा।
  14. इसदे कोल उपलब्ध इलैक्ट्रानिक स्वरूप च रक्खी गेई सूचना दा ब्योरा।
  15. सूचना हासल करने लेई नागरिकें कोल उपलब्ध सुविधाएं दा ब्योरा, जिं’दे च सार्वजनिक बरतून लेई लाइब्रेरी ते वाचनालय दे कारजी घैंटें दा ब्योरा शामल होए।
  16. जन सूचना अधिकारियें दे नांऽ, पदनांऽ ते होर ब्योरा।
  17. होर यथा निर्धारत सूचना।

स्त्रोत : उन्नति आर्गनज़ैशन फार डिवेलप्मन्ट ऐजुकेशन, अहमदाबाद,गुजरात

2.66666666667
अपनी राऽ देओ

उप्पर दित्ते गेदे बिशे च जेकर तुंदी कोई प्रतिक्रिया/ राऽ ऐ तां किरपा करियै इत्थे पोस्ट करी लैओ

Enter the word
Back to top