घर / पढ़ाई / ञ्यानें दे हक / शिक्षा इक मौलिक ते मानवधिकार
सांझा करो
Views
  • राज्य Open for Edit

शिक्षा इक मौलिक ते मानवधिकार

शिक्षा इक मौलिक माह्नू दा अधिकार ऐ । एह् माह्नू ते समाज दे रूप च साढ़े विकास आस्तै जरूरी ऐ ।

मौलिक अधिकार दे रूप च शिक्षा

भारत दे हर नागरिक गी प्राथमिक शिक्षा पाने दा अधिकार ऐ । इस सरबंध च शुरूआत (प्राथमिक ते मध्य स्तर ) शिक्षा मुफ्त होऐ । “शुरूआति शिक्षा जरूरी होऐ ते तकनीकी ते कम्मधंधे आह्ली शिक्षा गी सर्वसुलभ बनाया जा ते उच्च शिक्षा सारें दी पौंह्च दे अंदर होऐ” किश ऐसे बुनियादी सिद्धांत न जेह्ड़े साढ़ा मार्ग दर्शन करै करदे न ।

शिक्षा दा उपयोग माह्नू व्यक्तित्व दे संपूर्न विकास , मानवीय अधिकारें ते बुनयादी स्वतंत्रा आस्तै कीता जाना चाहिदा । माता –पिता ते अभिभावकें गी एह् पूर्वधिकार होऐ जे ओह् अपने ञ्यानें गी किस चाल्लीं शिक्षा देना चांह्दे न ।

ई एफए कीऽ जरूरी ऐ ?

8 भाग च एमडीजी हासल करने आस्तै सर्व शिक्षा दे लक्ष्य गी हासल करना किश हद तकर ञयानें ते प्रजनन सेह्त उप्पर एह्दे सिद्धे असर दी बजह कन्नै बेहद जरूरी ऐ ते कन्नै गै इस करियै जे ईएफए 2015 दे लक्ष्यै आस्तै ईएफए ने बहु-साथी सौह्योग च विस्तृत अनुभव हासल कीता ऐ । एह्दे कन्नै गै , सेह्त च सुधार , पीने दे साफ पानी दी सुविधा , गरीबी च कमी , ते पर्यावरन स्थिरता जि’यां होर एमडीजी गी हासल करना शिक्षा एमडीजी हासल करने आस्तै जरूरी ऐ ।

सिक्खने दे खराब परिनाम ते घट्ट गुनवत्ता दी शिक्षा बी शिक्षा दे खेतर च चैंता बनी दी ऐ । मसाल आस्तै , केईं विकासशील देशें च प्राथमिक स्कूल दे 60 प्रतिशत विध्यार्थीयेँ शा बी घट्ट , जेह्ड़े पैह्ली क्लास च दाखला लैंदे न , स्कूली शिक्षा दे खीरी ग्रेड तकर पुज्जदे न । एह्दे लावा , केईं देशें च छात्र / शिक्षक अनुपात 40:1 शा मता ऐ ते केईं प्राथमिक शिक्षकें गी पूरी जोगता दी घाट ऐ ।

सारें आस्तै शिक्षा

इक अग्रनी अभिकरन दे रूप च यूनेस्को सारे अंतरराश्ट्रीय पैह्ल गी सारें आस्तै शिक्षा दे लक्ष्य गी पाने बक्खी इकजुट करै करदी ऐ । सरकारें , विकास अभिकरन , नागरिक संस्थाएं , गैर –सरकारी संस्थाएं ते मीडिया किश ऐसे सैह्योगी न जेह्ड़े इस लक्ष्य गी हासल करने दी दिशा च कम्म करै करदे न ।

सारें आस्तै शिक्षा लक्ष्य गी हासल करने दा एह् अभियान अट्ठ शताब्दी विकास लक्ष्य (मिलेनियम डेवलपमेंट गोल , एमडीजी ) विशेश करियै साल 2015 तकर सार्वजनिक प्राथमिक शिक्षा उप्पर एमडीजी -2 ते शिक्षा च महिला –मर्द समानता उप्पर एमडीजी -3 गी बी मदद पजाऽ करदा ऐ ।

शिक्षा दे म्हत्व उप्पर ग्रां दे लोकें गी प्रेरित कीते जाने दी जरूरत ऐ । हेठ लिखी सूचनाएं लोकें आस्तै समाधान प्रदान करग

  1. बालिका शिक्षा
  2. बाल-मज़दूरें आस्तै शिक्षा ते संजोजक पाठ्यक्रम
  3. अनुसूचित जाति , जनजाति , पिछड़े वर्ग ते अल्पसंख्यकें आस्तै शिक्षा
  4. शारीरिक ते मानसिक रूप कन्नै अंगहीन , अपंग ते बिशेश ञयानें आस्तै शिक्षा
  5. शिक्षा ते महिलाएं

शिक्षा दे छे विशिश्ट लक्ष्य

  • बचपन दी शुरूआत च गै समग्र दिक्ख-रिक्ख ते शिक्षा दा विस्तार ते बेह्तरीकरन , बशेश रूप कन्नै मता संवेदनशील ते लाऽ लैने शा बंचित ञयानें आस्तै ।
  • एह् पक्का करना जे 2015 तकर सारे ञयानें , बशेश रूप कन्नै मुशकल परिस्थितियें च ते जातिगत अल्पसंख्यक बालकाएं , पूर्न मुफ्त ते शैल गुनवत्ता दी प्राथमिक शिक्षा हासल करी सकै ।
  • एह् पक्का करना जे सारे नौजोंआन ते व्यसकें गी सिक्खने दी जरूरत , सिक्खने ते जीवन-कौशल दे कार्यक्रमें दी समान उपलब्धता होऐ ।
  • 2015 तक वयस्क साक्षरता च 50% सुधार हासल करना , बशेश रूप कन्नै महिलाएं आस्तै ते सारे वयस्कें आस्तै मूल ते लगातार शिक्षा दी समान उपलब्धता होऐ ।
  • 2015 तकर प्राथमिक ते माध्यमिक शिक्षा च लैंगिक विशमता खत्म करना , ते 2015 तकर बालिकाएं गी शिक्षा दी पूर्न ते बराबर उपलब्धता उप्पर ध्यान देइयै शैल गुनवत्ता दी मूल शिक्षा दी उपलब्धि हासल करियै शिक्षा च लैंगिक समानता हासल करना ।
  • शिक्षा दी गुनवत्ता दे सारे पैहलुएं गी बेह्तर बनाना ते सारें दी प्रसिद्धि गी पक्का करना तां जे सिक्खने दे मान्य ते मापे जाने जोग परिनाम , सारें आसेआ हासल कीते जाई सकन , बशेश रूप कन्नै साक्षारता , अंक ज्ञान ते जरूरी जीवन कौशल ।
सारें आस्तै शिक्षा उप्पर मती जानकारी आस्तै क्लिक करो ।
2.52
अपनी राऽ देओ

उप्पर दित्ते गेदे बिशे च जेकर तुंदी कोई प्रतिक्रिया/ राऽ ऐ तां किरपा करियै इत्थे पोस्ट करी लैओ

Enter the word
Back to top