सांझा करो
Views
  • राज्य Open for Edit

चपासम

एह् हिस्सा चपासम कन्नै जुड़ी दी नीति,सुझाऽ प्रौद्योगिकी ते होर सब्भै म्हत्वपूर्ण जानकारियां पेश करदा ऐ।

भूमिका

"एनर्जी सेवर्स" (www.energysavers.co.in) नांऽ दे पोर्टल दी शुरूआत होई जेह्​ड़ी देश दे 50 ज्हार स्कूलें गी सिद्धे तौर पर सरकार दी ऊर्जा संरक्षण कन्नै जोड़ग। राश्ट्री ऊर्जा संरक्षण ध्याड़े दा आयोजन घरें, दफ्तरें ते उद्योगें तगर ऊर्जा खपत दी प्रवृत्ति गी सीमत करने दा सशक्‍त सनेहा देने लेई कीता जंदा ऐ। बिजली, कोला ते नमीं ते नवीकरणी ऊर्जा विभाग दे मंत्री (स्‍वतंत्र प्रभार) श्री पीयूष गोयल ने पिछले ब’रे दे सरबंधत सर्वश्रेश्ठ ऊर्जा कारज प्रदर्शन हासल करने आह्​ले उद्योगें, भवनें, उपकरण निर्माताएं गी राश्ट्री ऊर्जा संरक्षण इनाम प्रदान कीता ते देशभर च आयोजत कीते गेदे ऊर्जा संरक्षण चित्रकला प्रतियोगिताएं दे विजेता बच्‍चें गी राश्ट्री स्‍तर दे इनाम बी दित्ते। राश्ट्री ऊर्जा संरक्षण ध्याड़ा समारोह् ऐतवार 14 दिसंबर 2014 गी नमीं दिल्‍ली च आयोजित कीता गेआ हा।

वेब पोर्टल दियां प्रमुक्ख विशेशतां

नमें पोर्टल कन्नै स्‍कूली बच्‍चें गी, अपने घरें, स्‍कूलें ते आंड-गुआंड च स्‍कूल स्‍तर दी गतिविधियें राहें ऊर्जा संरक्षण कारज शुरू करने लेई प्रेरित कीते जाने दा प्रस्‍ताव ऐ। वेब पोर्टल दियां प्रमुक्ख विशेशतां न; समाज दे सभनें वर्गें दे स्‍कूली बच्‍चें च व्‍यापक जागरूकता विकसत करना ते उंदे तगर पुज्जना; वेब पोर्टल दे लाइव होने बेल्लै देश दे हर इक राज्‍य दे घट्ट थमां घट्ट इक स्‍कूल गी पोर्टल कन्नै जोड़ियै स्‍कूली बच्‍चें/अध्‍यापकें कन्नै प्रतक्ख सलाह्-मशवरा करना; एह् पोर्टल स्‍कूल समुदाय दे सदस्‍यें मझाटै ऊर्जा म्हारत दी संस्‍कृति दा समर्थन ते प्रसार करना ते उनेंगी अपने-आप ऊर्जा संरक्षण गतिविधियां चलाने च मदद करना ते अभिभावकें, अध्‍यापकें, मित्तरें ते गुआंडियें सनें स्‍कूली बच्‍चें कन्नै नेड़में चपासम प्रति जागरूकता बधाना; पोर्टल ऊर्जा क्‍लबें दे विकास, स्‍कूलें च ऊर्जा अंकेक्षण ते बचत पर अधारत प्रतियोगिताएं ते निबंध प्रतियोगिता बगैरा राहें पोर्टल कन्नै स्‍कूली बच्‍चें बश्कार सलाह्-मशवरे च मदद देना; प्रतियोगिताएं ते गतिविधियें च कामयाबी हासल करने आह्​ले बच्‍चें दी उपलब्धि गी मानता ते उनेंगी बीयूएसएस लेबल दे उत्‍पाद इनाम च देना ते उनेंगी ऐसे खिताब देना जेह्​ड़े उंदी प्रगतिशील उपलब्धियें गी मानता देई सकै; इस पोर्टल गी बाद च खेत्तरी भाशाएं च बी विकसत कीता जाह्​ग तां जे पूरे देश च इसदी मती थमां मती पौंह्​च बना सकै; पोर्टल अखीर च पूरे देशै च तकरीबन 50,000 स्‍कूलें कन्नै जुड़ी जाह्​ग ते ऊर्जा संरक्षण ते ऊर्जा म्हारत दी लोड़ पर व्‍यापक जागरूकता विकसत करग; बेह्​तर कारज प्रदर्शन करने आह्​ले स्‍कूलें/होर उपलब्धि हासल करने आह्​ले बच्‍चें गी बाद दे ब’रें च राश्ट्री ऊर्जा सरंक्षण पुरस्‍कारें लेई शामल कीता जाई सकदा ऐ।

ऊर्जा संरक्षण चित्रकला प्रतियोगता दे खेत्तर च राश्ट्री स्‍तर दे इनामें दा चुनांऽ कीता जंदा ऐ। इसलेई स्‍कूली बच्‍चें च प्रतियोगिता च शामल होने दा खासा उत्‍साह् रेहा। इस ब’रे 1.01 लक्ख स्‍कूलें थमां 60.17 लक्ख विद्यार्थियें पूरे देशै च स्‍कूल स्‍तर दी प्रतियोगिताएं च हिस्सा लैता (2013 च 90,000 स्‍कूलें दे 45.07 विद्यार्थियें दे मकाबले)। इंदे थमां 3700 विद्यार्थियें (हर राज्‍य थमां 100) राज्‍य पद्धर दा प्रतियोगिताएं च हिस्सा लैता ते हर राज्‍य थमां सर्वश्रेश्ठ त्रै (चौथी थमां छेमीं क्लासै दी) राश्ट्री स्‍तर दी प्रतियोगिता च शामल होङन। हर इनाम जित्तू विद्यार्थी गी इक सार्टिफिकेट ते नगद इमाम दित्ता जंदा ऐ। इस ब’रे राश्ट्री ऊर्जा संरक्षण पुरस्‍कारें लेई औद्योगिक ते तजारती इकाइयें दी सैह्​भागता खासी हौसला-हफजाई आह्​ली रेही ऐ। एह् बधदे भागीदारी स्‍तर (1999 च 123 थमां 2014 च 1010) थमां साफ होंदा ऐ।

स्त्रोत:पसूका

2.7
अपनी राऽ देओ

उप्पर दित्ते गेदे बिशे च जेकर तुंदी कोई प्रतिक्रिया/ राऽ ऐ तां किरपा करियै इत्थे पोस्ट करी लैओ

Enter the word
Back to top