घर / समाजिक भलाई / वरिश्ठ नागरिकें दा कल्याण / वेब रिस्पान्सिव पेंशनर्स सेवा
सांझा करो
Views
  • राज्य Open for Edit

वेब रिस्पान्सिव पेंशनर्स सेवा

इस हिस्से च वेब रिस्पान्सिव पेंशनर्स सेवा दी जानकारी दित्ती गेई ऐ।

डिजिटल इंडिया पैह्​ल

वेब रिस्पान्सिव पेंशनर्स सेवा महानियंत्रक लेखा आसेआ कीती गेदी डिजिटल इंडिया पैह्​ल ऐ, जेह्​ड़ी केंदरी वित्त मंत्रालय दे प्रशासनक नियंत्रण च कम्म करदी ऐ। वेब रिस्पान्सिव पेंशनर्स सेवा गी पेंशनरें लेई क थाह्​र मिलने आह्​ले वेब समाधान दे तौर पर विकसत कीता गेआ ऐ, जिस कन्नै पेंशन ते पेंशन भुगतान दी स्थिति कन्नै सरबंधत व्यापक जानकारियां हासल होई सकन। इस सेवा कन्नै पेंशनरें दी शकैतें दे फौरी नबेड़े च बी मदद मिलग।

बेह्​तर ते फौरी सेवां

पेंशनरें गी बेह्​तर ते फौरी सेवां देने दे कोशिशें दे सिलसले च केंदरी पेशन लेखा आफिस (सीपीएओ) अपनी वेबसाइट www.cpao.nic.in  राहें मंत्रालय, पीएओएस, बैंकें ते पेंशनरें जनेह् पक्षधारकें गी केईं सेवां उपलब्ध करोआ करदा ऐ। उन्नै पेंशनरें गी केईं सेवां देने लेई मोबाइल पर थ्होने आह्‌लियां सुविधां विकसत कीतियां न। पेंशनर सीपीएओ दी वेबसाइट पर पेंशन भुगतान आदेश (पीपीओ) संख्या ते जन्म तरीक ते रटैर होने दी तरीक/मृत्यु दी तरीक उपलब्ध करोआइयै अपने-आप गी पंजीकृत करोआई सकदे न। पेंशनर अपनियां शकैतां दर्ज करोआई सकदे न ते पोर्टल राहें उसदी स्थिति पर नजर रक्खी सकदे न।

मुक्ख खासियतां

इस सेवा दी मुक्ख खासियतें च कुसै बी मोबाइल डिवाइस दी बरतून करदे होई लागइन करने, पेंशनर दी पूरी जानकारी दिक्खने दी सुविधा ते पेंशन ते संशोधन आदेश दे डिजिटल रिकार्ड दी सुविधा शामल ऐ। इसदे अलावा एह् सेवा पेंशन प्रोसेसिंग ग्रीवांस रिड्रेसल दी स्थिति पर नजर रक्खग ते इसदी जानकारी तुसेंगी एसएमएस राहें बी थ्होई सकग। इस सुविधा गी जीवन प्रमाण, भविक्ख ते सीपीईएनजीआरएएमएस पोर्टल कन्नै जोड़ेआ जाह्‌ग। इसदे अलावा पेंशनरें गी बैंकें, पीएओ ते मंत्रालयें ते विभागें दी डैशबोर्ड बी थ्होग।

पेंशन प्रोसेसिंग स्टेटस ट्रैकिंग

रटैर होने दे बाद ते रटैर होन जा करदे पेंशनर अपने पेंशन दे मामलें नाएं कन्नै गै संशोधन जियां सीपीएओ दे मामलें च प्राप्ति दी तरीक ते सीपीएओ थमां बैंक गी भेजने दी तरीक जनेह् संशोधन दे स्टेटस पर नजर रक्खी सकदे न। रटैर कर्मचारियें दे मामले च पेंशन दी स्थिति पर नजर रक्खने लेई पीपीओ संख्या, जन्म तरीक ते रटैर होने दी तरीक/मृत्यु दी तरीक दी लोड़ होंदी ऐ। रटैर होन जा करदे कर्मचारियें लेई पैन संख्या ते रटैर होने दी तरीक दी लोड़ होंदी ऐ।

शकैत समाधान

पेंशनर अपनियां शकैतां दर्ज करोआई सकदे न ते इस सेवा राहें अपनी शकैत पर नजर रक्खी सकदे न। सीपीएओ दी वेबसाइट पर ऑनलाइन शकैतां दर्ज करोआने दे अलावा चिट्ठी, फैक्स, ईमेल, टोल फ्री नंबर (1800117788) ते निजी तौर पर मिलियै शकैतां दर्ज करोआइयां जाई सकदियां न, कन्नै गै स्टेटस पर नजर रक्खी जाई सकदी ऐ। पेंशनर थमां शकैत मिलने दे बाद सीपीएओ नबेड़े लेई इसी आनलाइन सरबंधत बैंकें ते खेत्तरी दफ्तरें गी भेजी दिंदा ऐ। पेंशनरें गी सूचत करने लेई इसदे स्टेटस गी अपडेट कीता जंदा रौंह्​दा ऐ।

जीवन प्रमाण,भविक्ख ते सीपीईएनजीआरएएमएस पोर्टल लिंक करना

सीपीएओ वेबसाइट पर जीवन प्रमाण पोर्टल लेई लिंक उपलब्ध करोआया गेआ ऐ, जिस कन्नै पेंशनर डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र (सीएलसी) सुविधा दी बरतून करी सकन। रटैर कर्मचारियें लेई डीपीएंडपीडब्ल्यू दे भविक्ख पोर्टल कन्नै लिंक स्थापत कीता गेआ ऐ, जिस कन्नै केस सीपीएओ तगर पुज्जने थमां पैह्​ले अपने पेंशन दे मामले पर ओह् नजर रक्खी सकन। सीपीईएनएजआरएएमएस गी बी क लिंक उपलब्ध करोआया गेआ ऐ, जिस कन्नै पेंशनर सीपीईएनएजआरएएमएस पर शकैत दर्ज करोआई सकन ते अपनी शकैत पर नजर रक्खी सकन।

स्त्रोत :

2.68421052632
अपनी राऽ देओ

उप्पर दित्ते गेदे बिशे च जेकर तुंदी कोई प्रतिक्रिया/ राऽ ऐ तां किरपा करियै इत्थे पोस्ट करी लैओ

Enter the word
Back to top