सांझा करो
Views
  • राज्य Open for Edit

अटल पैंशन जोजना

इस भाग च अटल पैंशन जोजना-पात्रता

परिचय

भारत सरकार आसेआ कम्म करने आह्ले गरीब दी बुढ़ापा औंदानी सुरक्षा गी ध्यान च रखदे होई ते उ’नेईं राश्ट्रीय पैंशन प्रनाली (एन पी एस) च शामल होने आस्तै प्रोत्साहित करने ते समर्थ बनाने उप्पर ध्यान दित्ता गेआ ऐ । असंगठित खेतर च कम्म करने आह्ले च जीवन सरबंधी जोखम दा समाधान करने ते हुंदी सेवानिवृति आस्तै बलंटरी बचत जेह्ड़ी 2011-12 दे एन एस एस ओ सर्वे दे 66 वें राउंड दे अनुसार 47.29 करोड़ दे कुल श्रम बल दा 88% ऐ , पर जिंदे आस्तै कोई औपचारिक पैंशन दा सरिस्ता नेईं ऐ , मुक्ख रूप कन्नै 60 साल दी बरेस दे बाद पैंशन लाS दी स्पष्ट्ता दी कमी करियै शुरू कीती गेई स्वाबलंबन जोजना दे तैह्त कवरेज अपर्याप्त हा ।

लक्षित समूह

अटल पैंशन जोजना दे तैह्त , ग्राह्क अपने अंशदान जेह्ड़ा एपीवाई च शामल होने दी बरेस आस्तै बक्ख-बक्ख ऐ , दे आधार उप्पर 60 साल दी बरेस च 1000 रुपे हर म्हीनै , 2000 रुपे हर म्हीनै , 3000 रुपे हर म्हीनै , 4000 रुपे हर म्हीनै निर्धारित पैंशन हासल होग । एपीवाई च शामल होने दी घट्ट शा घट्ट बरेस 18 साल ते मती शा मती बरेस 40 साल ऐ । एपीवाई दे तैह्त अंशदाता आसेआ अंशदान दी घट्ट शा घट्ट अवधि 20 साल जां ओह्दे शा मती ऐ ।

एपीवाई दे फायदे

ग्राह्कें ग्राह्कें गी 1000 रुपे शा 5000 रुपे दे बिच्च निर्धारित पैंशन , जेकर ओह् 18 साल थमां 40 साल दी बरेस दे अंदर शामल होंदा ऐ ते अंशदान करदा ऐ । अंशदान स्तर बक्ख होङन ते जेकर ग्राह्क तौले शामल होंदा ऐ ता ओह् घट्ट होङन ते चिरें शामल होने उप्पर ओह् बधी जाड्न ।

ए पी वाई दे पात्रता

अटल पेंशन जोजना (ए पी वाई ) सारे बैंक खाता धारकें आस्तै खुल्ली ऐ । केंद्र सरकार हर जना ग्राह्क जेह्ड़ा 1 जून , 2015 ते 31 दिसम्बर , 2015 दा बिच्चली अवधि च एन पी एस च शामल होंदे न ते जेह्ड़े कुसै सामाजिक सुरक्षा जोजना ड़े सदस्य नेईं होन ते जेह्ड़े टैक्स नेईं दिन्दे होन , दे खाते च 5 साल दी अवधि आस्तै ते वित्तीय साल 2015-16 थमां 2019-20 तकर कुल अंशदान दा 50% जां 1000/- रुपे जेह्ड़ा बी घट्ट होऐ दा सह-अंशदान करग ।

शामल होने दी बरेस ते अंशदान अवधि

ए पी वाई च शामल होने दी घट्ट शा घट्ट बरेस 18 साल ते मती शा मती बरेस 40 साल ऐ । छोड़ने ते पैंशन शुरू होने दी बरेस 60 साल होग । इस चाल्लीं , ए पी वाई दे तैह्त ग्राह्क आसेआ अंशदान दी घट्ट शा घट्ट अवधि 20 साल ते ओह्दे शा मती होग ।

ए पी वाई दा फोकस

मुक्ख तौर उप्पर असंगठित खेत्तर ते कम्म करने आह्ले उप्पर लक्षित ऐ ।

नामांकन ते ग्राह्क भुगतान

पात्र श्रेनी दे तैह्त अपने आप नांS सुविधा आह्ले खातें दे सारे बैंक खाताधारक ए पी वाई च शामल होई सकदे न जेह्दे करियै अंशदान संग्रैह् प्रभारें च कमी औग । चिरें भुगतान करने कन्नै , दंड शा बचने आस्तै ग्राह्कें गी दित्ते गेदे समें मताबक तरीकें उप्पर हुंदे बचत खातें च अपेक्षित बाकी राशि रखनी चाहिदी । मासक अंशदान भुगतान लेई देय तरीकें दी गनना पैह्ली अंशदान राशि गी जमा करने दे आधार उप्पर कीती जंदी ऐ । नामांकन लेई दीर्घाविधि च पैंशन अधिकारे ते पात्रता सरबंधत विवादें शा बचने आस्तै ला S लैने आह्लें जनानी-मर्द ( पति-पत्नी ) ते नामजदें दी पंछान आस्तै । आधार मूलभूत के वाई सी दस्तावेज़ होग ।

नामांकन एजैंसियां

स्वावलम्बन जोजना दे तैह्त सारे मजूद बिंदू (सेवा प्रदाता ) ते एग्रीगेटर नेशनल पैंशन प्रनाली दे ढांचे दे माध्यम कन्नै ग्राह्कें गी नामांकित करडन । बैंक पी ओ पी ते एग्रीग्रेट्ररें दे रूप च परिचालन गतिविधियें आस्तै सक्षमकर्ता दे रूप च बी सी / विद्यमान गैर बैंकिंग एग्रीग्रेटरें , सूक्ष्म बीमा अभिकर्ताएं , ते म्यूचुअल फंड एजेंटें दी मदाद लेई सकङन ।

ग्राह्कें गी लगातार सूचना एलर्ट

ए पी बाई ग्राह्कें गी हुंदे खाते च बाकी राशि, अंशदान जमा बगैरा दे सरबांध च आवधिक सूचना एस एम एस एलर्ट दे माध्यम कन्नै दित्ती जाह्ग

स्त्रोत :पैंशन निधि विनियामक ते विकास प्राधिकरन ।

2.55555555556
अपनी राऽ देओ

उप्पर दित्ते गेदे बिशे च जेकर तुंदी कोई प्रतिक्रिया/ राऽ ऐ तां किरपा करियै इत्थे पोस्ट करी लैओ

Enter the word
Back to top