सांझा करो
Views
  • राज्य Open for Edit

बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जोजना

इस भाग च बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जोजना दी जानकारी दित्ती गेई ऐ ।

पृश्टभूमि

0-6 साल बर्ग च 1000 जागतें दे बिच्च परिभाशित बाल लिंग अनुपात च प्रति कुडियेँ दी संख्या च गिरावट दी प्रवृत्ति , 1961 थमां लगातार दिक्खी जा करदी ऐ । 1991 दे 945 संख्या दे 2001 च 927 तकर पुज्जने ते 2011 च इस संख्या दे 918 तकर पुज्जने उप्पर इसगी खतरे च मंनदे होई इसगी सुधारने दे प्रयास शुरू कीते गे न ।

महिलायें ते बाल विकास मंत्रालय , सेह्त मंत्रालय ते परिवार कल्यान मंत्रालय ते मानव संसाधन विकास दी इक सांझी पैह्ल दे रूप च किट्ठे प्रयासें दे अंतर्गत कुड़ियें गी संरक्षन ते सशक्त करने आस्तै बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ जोजना (BBBP) दी शुरूआत कीती गेई ऐ ते जिसगी हेठले लिंग अनुपात आह्ले 100 जिलें च शुरू कीता गेआ ऐ ।

समग्र लक्ष्य

कुड़ी (बेटी) दा गुणगान करो ते उसगी शिक्षा ग्रैह्न आस्तै सक्षम बनाओ ।

जिलें दी पंछान

सारे राज्यें /संघ शासित खेत्तरें गी कवर 2011 दी जनगनना दे अनुसार हेठले बल लिंग अनुपात दे आधार उप्पर हर इक राज्य च घट्ट शा घट्ट इक जिले कन्नै 100 जिलें दा इक पायलट जिले दे रूप च सर्वे कीता गेआ ऐ ते जिलें दे सर्वे आस्तै त्रै मानदंड इस चाल्लीं न :-

  • राश्ट्रीय औसत शा थल्लै जिले (87 जिले /23 राज्य )
  • राश्ट्रीय औसत दे बराबर गिरावट द रूख (8 जिले /8 राज्य )
  • राश्ट्रीय औसत शा ते लिंगानुपात दी बधै दी प्रवृति आह्ले राज्यें दे जिले ( 5 जिले /5 राज्यें द चुनाऽ जि’नें अपने लिंगानुपात दे स्तर गी बनाए रक्खै ते जेह्दे अनुभव शा सिक्खियै बाकी दुए थाह्रें उप्पर दोह्राया जाई सकै ।

उदेश्य

  • पक्षपाती लिंग चुनाऽ दी प्रक्रिया द उन्मूलन
  • कुड़ियें (बालिकायें ) दी शिक्षा सुनिशित करना

रननीतियां

  • बेटी (कुड़ी) ते शिक्षा गी बढ़ावा देने आस्तै इक सामाजिक आंदोलन ते समान मूल्य गी बढ़ावा देने आस्तै जागरूकता अभियान दा कम्म करना ।
  • इस मुद्दे गी जरूरी बचार-बिमर्श दा विशे बनाना ते उसगी संशोधित करदे रौह्ना सुशासन दा पैमाना बनग ।
  • हेठले लिंगानुपात आह्ले जिलें दी पंछान करियै ध्यान दिंदे होई कारवाई करना ।
  • सामाजिक बदलाऽ लाने आस्तै जरूरी स्रोत दे रूप च स्थानीय महिला संगठने /नौजुआने दी सैह्भागिता लैंदे होई पंचाइती राज्य संस्थाए स्थानिय निकायं ते जमीनी स्तर उप्पर जुड़े कार्यकर्ताएं गी प्रेरित ते प्रशिक्षन करदे होई सामाजिक बदलाऽ दे प्रेरक दी भूमिका च ढालना ।
  • जिला/ब्लाक /जमीनी स्तर उप्पर अंतर-खेत्तरीय ते अंतर-संस्थागत समायोजन गी सक्षम करना ।

स्त्रोत : बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ , महिला ते बाल कल्यान मंत्रालय , भारत सरकार

2.75862068966
Back to top